जाने शरीर में प्रोटीन की कमी के मुख्य लक्षण | KNOW THE MAIN SYMPTOMS OF PROTEIN DEFICIENCY IN THE BODY

जाने शरीर में प्रोटीन की कमी के मुख्य लक्षण
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


अधिकांश लोग शरीर में प्रोटीन की कमी की और ध्यान ही नहीं देते है लेकिन दोस्तों प्रोटीन की कमी को नजरअंदाज करना आपके लिए एक बड़े खतरे से कम नहीं पड़ेगा। अगर आपके शरीर में प्रोटीन की कमी है तो इसके कारण आपके बहुत सी गंभीर बीमारिया भी हो सकती है। आज के इस पोस्ट में हम इसी के बारे में बात करने जा रहे है।

 

 

जाने शरीर में प्रोटीन की कमी के मुख्य लक्षण | Know the main symptoms of protein deficiency in the body

    प्रोटीन की कम से जोड़ों में दर्द – Joint pain due to lack of protein

    दोस्तों ध्यान दे यदि आपके भी मांसपेशियों या घुटनों में दर्द रहता है तो हो सकता है यह प्रोटीन की कमी के कारण हो रहा हो। क्युकी हमारे शरीर में उचित मात्रा में प्रोटीन न मिल पाने के कारण जोड़ों में मौजूद तरल पदार्थ पूरी तरह से नहीं बन पाता और इसके कारण हमें यह समस्याएं हो जाती हैं। 
     

    अक्सर प्रोटीन की कमी का सीधा असर हमारे जोड़ों के दर्द के रूप में देखने को मिलता है और साथ ही इसकी कमी से जोड़ों में दर्द होने के साथ-साथ मांसपेशियों में अकड़न की समस्या सकती है। इसके कारण आपको आर्थराइटिस जैसी गंभीर बीमारी होने का खतरा पैदा हो जाता है।

     

    प्रोटीन की कमी से बच्चों का विकास सही ढंग से नहीं हो पाता इसलिए हमे बच्चो के Balanced Food में प्रोटीन का सही से ख्याल रखना चाहिए।

    प्रोटीन की कमी के कारण हिमोग्लोबिन में कमी – Hemoglobin deficiency due to protein deficiency



    शरीर में प्रोटीन की कमी के कारण सफेद रक्त कोशिकाओं
    (सफेद रक्त कोशिकाओं (WBC)  हमारे योद्धाओं कर रहे हैं; हमारे शरीर के अंदर सेना हमारी ओर से सुरक्षा प्रदान करता है) की संख्या में कमी आ सकती है और हिमोग्लोबिन भी कम हो जाता है और इसके कारण हमारे शरीर में रोगों से लड़ने की क्षमता कम हो जाती है।

     

    प्रोटीन की कमी हर वक्त थकान महसूस करना – Protein deficiency feeling tired all the time

    क्या आप हमेशा थका हुआ फील करते है तो इस थकावट कारण प्रोटीन की हो सकता है। प्रोटीन की कमी मानसिक थकावट का कारण होता है। प्रोटीन का सेवन ना करने से शरीर में कमजोरी बनी रहती है।
     

    प्रोटीन की कमी से ब्लड शुगर का लेवल की समस्या – Blood sugar level problem due to lack of protein


    प्रोटीन की कमी के कारण थोड़ा सा भी शारीरिक श्रम करने से थक जाना और बार बार भूख लगना ऐसा इसलिए होता है क्युकी प्रोटीन की कमी से रक्त (Blood) में शर्करा (Sugar) का स्तर कम हो जाता है जिसके फलस्वरूप इन समस्याओ का सामना करना पड़ता है।

    प्रोटीन की कमी से बार बार बीमार होना – Sick of protein deficiency


    प्रोटीन की कमी के कारण शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होना, बार बार बीमार पड़ना और शारीरिक दर्द की समस्या से गुजरना इत्यादि समस्याओ से गुजरना पड़ सकता है। 

     

    प्रोटीन के अभाव से नाखूनों का कमजोर होना – Weakness of nails due to lack of protein

    प्रोटीन की कमी के कारण बालो का झड़ना और नाखूनों का कमजोर हो जाते है। इसलिए दोस्तों  प्रोटीन की पर्याप्त मात्रा शरीर की सुंदरता के लिए बहुत जरूरी है।
     

    प्रोटीन की कमी से बालों का झड़ना – Hair loss due to lack of protein

    शरीर को उचित मात्रा में प्रोटीन न मिले तो आपको बाल झड़ने की समस्या हो सकती है। इसलिए बालो के लिए प्रोटीन बहुत ज्यादा महत्व रखता है।

    घाव भरने में प्रोटीन है बहुत महत्वपूर्ण – Protein is very important in wound healing



    प्रोटीन की कमी से हमारे शरीर के घाव जल्दी से नहीं भरते ऐसा इसलिए होता है क्योंकि प्रोटीन शरीर में नए सेल्स, टिशू और स्किन का बनाते है और प्रोटीन की कमी से इनका निर्माण रुक जाता है और जिसके कारण घाव जल्दी नहीं भरते।

    इन चीजों खाने से आपको मिल सकता है प्रचुर मात्रा में प्रोटीन – You can get abundant protein by eating these things

     
    1. दूध-  दूध प्रोटीन का एक बहुत अच्छा स्रोत माना जाता है और साथ में ही दूध कैल्शियम और विटामिन डी भी प्रचुर मात्रा में मिल जाते है।
    इसलिए हमे रोजाना अपने संतुलित भोजन में एक गिलास दूध जरूर से लेना चाहिए। इसके अलावा आपको पनीर और दही जैसे डायरी प्रोडक्ट को भी शामिल करना चाहिए।  
    2. साबुत अनाज और दाल- साबुत अनाज और दाल प्रोटीन के अच्छे स्रोत माने जाते हैं और इन्हे हमे प्रतिदिन सेवन करना चाहिए। 
    3. अखरोट- अखरोट प्रोटीन का एक अच्छा स्त्रोत माना जाता है,  इसमें विटामिन बी कॉम्प्लेक्स विशेष रूप से बी6 और कईं मिनरल जैसे आयरन, मैग्नीशियम, कॉपर और जिंक भी काफी मात्रा में होते हैं।
    4. बीन्स और सी फूड- बीन्स और सी फूड में प्रोटीन की अधिक मात्रा पाई जाती है। क्योंकि, इसमें प्रोटीन के साथ फाइबर भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। 
    5. अंडा- अंडा प्रोटीन का सबसे अच्छा स्रोत माना जाता है। okay 
     
    आखिर हमारे शरीर को रोजाना कितने प्रोटीन की जरूरत ? – After all, how much protein does our body need every day?
    दोस्तों आपके के लिए यह प्रश्न बहुत मायने रखता है की रोजाना हमे कितने प्रोटीन जरूरत पड़ती होगी हम आपको पता दे कि प्रोटीन की आवश्यकता आपके भार और आपके कैलोरी इनटेक पर निर्भर करती है, क्योंकि, आपके कुल कैलोरी का 20 से 35 प्रतिशत प्रोटीन से आना चाहिए। अगर आप प्रतिदिन 2,000 कैलोरी का सेवन करते हैं, तो उसमें से 600 कैलोरी प्रोटीन से मिलना चाहिए।
     

    ज्यादा प्रोटीन भी हो सकता है आपके लिए हानिकारक – Too much protein can also be harmful for you

    वहीं अधिक मात्रा में प्रोटीन (Protein) लेना भी नुकसानदेह है। आपकी कुल कैलोरी का 30 प्रतिशत से अधिक प्रोटीन (Protein) आपके शरीर को नुकसान पहुंचाता है। शोध कहते हैं कि इससे शरीर में कीटोन की मात्रा बढ़ जाती है, जो एक विषैला पदार्थ है। इस कीटोन को शरीर से बाहर निकालने के लिए शरीर को अतिरिक्त मेहनत करनी पड़ती है। जो लोग अत्यधिक मात्रा में मांस से प्रोटीन (Protein) लेते हैं, उनमें कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ जाता है, जिससे हृदय रोगों, स्ट्रोक और कैंसर का खतरा बढ़ जाता है।
     भोजन में प्रोटीन (Protein) की मात्रा बढ़ाने से कार्बोहाइड्रेट का सेवन कम हो जाता है, जिससे शरीर को फाइबर भी कम मिलता है और कब्ज की समस्या हो जाती है। वहीं किडनी की समस्या से ग्रस्त लोगों में यह समस्या गंभीर हो जाती है। प्रोटीन (Protein) के मेटाबॉलिज्म से निकलने वाले व्यर्थ पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने में शरीर को परेशानी होती है।
    दोस्तो आपको यह पोस्ट कैसा हमें comment करके जरूर से बताए और इस पोस्ट को अपने मित्रो से जरूर से share करे ताकि उनको भी स्वास्थ्य के सम्बन्धित महत्तवपूर्ण जानकारी प्राप्त हो सके ।
    धन्यवाद UniqueLifes Team

     



    Spread the love
    •  
    •  
    •  
    •  
    •  
    •  
    •  
    •  
    •  
    Author: UniqueLifes

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *