Albert Einstein Amazing Facts in Hindi – अल्बर्ट आइंस्टीन के रोचक तथ्य

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •  
  •  


Albert Einstein Amazing Facts in Hindi – अल्बर्ट आइंस्टीन के रोचक तथ्य हिंदी में 


1. महान वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन(Albert Einstein) का जन्म जर्मनी में वुटेमबर्ग (जर्मनी) के एक यहूदी परिवार में हुआ था उनके पिता एक इंजीनियर और सेल्समैन थे उनकी माता का नाम पौलीन आइंस्टीन (Pauline Einstein) था।  इनके पिता नाम Hermann Einstein था। हालाँकि आइंस्टीन को शुरू-शुरू में बोलने में कठिनाई होती थी, लेकिन वे पढाई में अव्वल थे। 

2. क्या आप जानते है कि जब आइंस्टीन(Albert Einstein) का जन्म हुआ तब इनका सिर बहुत बड़ा था। जब ये 4 साल की उम्र में थे तब तक इन्होने बोलना भी शुरू नहीं किया था।

3. आपको जानकर आश्चर्य होगा कि अल्बर्ट आइंस्टीन(Albert Einstein) अपने कॉलेज के दिनों में गणित (Mathematics)  व साइंस(Science) को छोड़कर शेष सभी विषयों में फेल हो जाया करते थे। 😲😲

 इसे भी जरूर से पढ़े :- भोजन के कुछ Amazing Facts जो आप नहीं जानते होंगे ( Amazing Facts about Food in Hindi )

4. अल्बर्ट आइंस्टीन(Albert Einstein) को सर्वप्रथम विज्ञान में रुचि 5 साल की छोटी सी उम्र में हुई जब उनके पिता ने उन्हें Compass लाकर दिया और अल्बर्ट आइंस्टीन दिन भर  Compass के रहस्य को सुलझाने में लगे रहते थे।

6. महान वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन(Albert Einstein) अपने स्कूल के दिनों में पढ़ाई में का

फी कमजोर थे।


7. आइंस्टीन(Albert Einstein) ने एक इंटरव्यू में बताया  था कि उन्हें मोजे (जुराबे) पहनना पसंद नहीं है जब इंटरव्यूवर ने इसका कारण जानना चाहा तो आइंस्टीन ने कहा अक्सर मेरे अंगूठे के कारण मोजे (जुराबे) में छिद्र हो जाते हैं इसीलिए मैंने मोजे (जुराबे) ही पहनना छोड़ दिया। 😂😂

इसे भी जरूर से पढ़े :- Know Doctor Writing Secret Code डॉक्टर के सीक्रेट लिखावट को जाने 



11. अल्बर्ट आइंस्टीन की याददाश्त बहुत कमजोर थी वह अक्सर अपने घर का पता व फोन नंबर भूल जाते थे।


13.महान वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन(Albert Einstein) के पसंदीदा वैज्ञानिक गैलीलियो गैलीलि थे।

16. आपको पता ही होगा E=Mc2 अल्बर्ट आइंस्टीन(Albert Einstein) का विश्व में सबसे प्रसिद्ध आविष्कार है।

17. क्या आपको पता है नाजी गतिविधियों के कारण अल्बर्ट आइंस्टीन को जर्मनी देश  छोड़ना पड़ा और उन्हें अमेरिका में शरण लेनी पड़ी थी।


18 18 April 1955 के दिन इस महान वैज्ञानिक ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया था लेकिन इनके किए गए महान अविष्कारों के कारण आज भी विज्ञान के क्षेत्र में इन्हे याद किया जाता है। 

दोस्तों आपको यह Article कैसा लगा हमे कमेंट करके जरूर बताये ✌✌😊😊


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •  
  •  
Author: UniqueLifes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *